कारोबार & अर्थव्यवस्था

वाहन बीमा कितने प्रकार के होते हैं? | What are the types of Vehicle insurance?

Vehicle Insurance हमारे वित्तीय नुकसान को कवर करता है और हमें कई कानूनी परेशानियों से भी बचाता है। इस लेख में हम जानेंगे कि वाहन बीमा क्यों जरूरी है और वाहन बीमा के क्या लाभ हैं?

लोग बेहतरीन कार खरीदने की कोशिश करते हैं, लेकिन कार का बीमा कराने में लापरवाही बरतते हैं। वाहन बीमा (Vehicle Insurance) हमारे वित्तीय नुकसान को कवर करता है और हमें कई कानूनी परेशानियों से भी बचाता है। इस लेख में हम जानेंगे कि वाहन बीमा (Vehicle Insurance) क्यों जरूरी है और वाहन बीमा के क्या लाभ हैं? सबसे पहले हम जानेंगे कि वाहन बीमा (Vehicle Insurance) कितने प्रकार का होता है?

वाहन बीमा कितने प्रकार के होते हैं? | What are the types of Vehicle insurance?
Vehicle Insurance

वाहन बीमा के प्रकार (Types of Vehicle Insurance)

हमें मिलने वाले बीमा कवर के अनुसार वाहन बीमा (Vehicle Insurance) दो प्रकार के होते हैं-

तृतीय-पक्ष बीमा पॉलिसी (Third-Party Insurance Policy) : तृतीय-पक्ष बीमा पॉलिसी हमारे वाहन से क्षतिग्रस्त किसी भी व्यक्ति या संपत्ति की क्षतिपूर्ति करती है। ऐसी घटनाओं के बाद मुआवजे के निर्धारण के लिए होने वाली कानूनी प्रक्रियाओं से निपटने की जिम्मेदारी भी बीमा कंपनी की होती है।

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के साथ-साथ हमें 15 लाख का कंपल्सरी पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस भी मिलता है। यह वाहन मालिक की मृत्यु या स्थायी विकलांगता की स्थिति में 15 लाख रुपये तक का मुआवजा प्रदान करता है।
लेकिन ध्यान रखें कि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पॉलिसी से हमारे वाहन को हुए नुकसान का मुआवजा हमें नहीं मिलता है। इसके लिए हमें ओन डैमेज कवर लेना होता है, जो एक व्यापक मोटर बीमा पॉलिसी लेने के बाद ही मिलता है।

व्यापक मोटर बीमा पॉलिसी (Comprehensive Motor Insurance Policy): व्यापक मोटर बीमा पॉलिसी को पूर्ण बीमा पॉलिसी के रूप में भी जाना जाता है। इसमें बीमा कंपनी न केवल हमारे वाहन से किसी अन्य वाहन, व्यक्ति और संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई करती है, बीमा कंपनी हमारे वाहन को हुए नुकसान की भरपाई भी करती है. यानी हमें व्यापक मोटर बीमा पॉलिसी से थर्ड पार्टी इंश्योरेंस और ओन डैमेज कवर दोनों का लाभ भी मिलता है। एक व्यापक बीमा पॉलिसी लेने से हमें कई प्रकार के ऐड ऑन कवर (सहायक बीमा पॉलिसियां) जोड़ने की सुविधा मिलती है।

वाहन श्रेणी द्वारा बीमा के प्रकार (Types of Insurance by Vehicle Category)

वाहन की श्रेणी के अनुसार वाहन बीमा तीन प्रकार का होता है।

  • कार बीमा (Car Insurance)
  • दोपहिया वाहन का बीमा (Two Wheeler Insurance)
  • वाणिज्यिक वाहन बीमा (Commercial Vehicle Insurance)

आइए अब इन तीनों के बारे में विस्तार से जानते हैं-

और पढ़ें: 2022 में बीमा के बारे में वह सब कुछ जो आपको जानना आवश्यक है |

कार बीमा (Car Insurance)

इस बीमा से हमें अपनी कार को हुए नुकसान की भरपाई करने की सुविधा मिलती है। कार बीमा प्राकृतिक आपदाओं या मानव निर्मित आपदाओं आदि की स्थिति में वाहन को हुए नुकसान को भी कवर करता है। कई कंपनियों ने अब कार बीमा के साथ-साथ उसी के एक हिस्से के रूप में चिकित्सा बीमा प्रदान करना शुरू कर दिया है।

कार बीमा हमारे वाहन के कारण हुई दुर्घटना की स्थिति में किसी अन्य व्यक्ति या संपत्ति (तृतीय पक्ष) को हुए नुकसान पर कानूनी दायित्व का निपटान करने के लिए भी जिम्मेदार है। वाहन का चालक भी इस तृतीय पक्ष देयता के लाभ का हकदार है। इतना ही नहीं, यात्रियों/सह-यात्रियों के लिए भी कवरेज लेने का विकल्प है। हालांकि, जितना अधिक कवरेज बढ़ता है, पॉलिसी का प्रीमियम उतना ही अधिक होता है।

दोपहिया वाहन का बीमा (Two Wheeler Insurance)

टू व्हीलर इंश्योरेंस पॉलिसी थर्ड पार्टी के साथ-साथ खुद के वाहन को हुए नुकसान के लिए मुआवजे की सुविधा प्रदान करती है। इस प्रकार का बीमा सड़क दुर्घटनाओं के अलावा प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से भी बचाता है। आम तौर पर यह बीमा एक साल के लिए होता है।
इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने लॉन्ग टर्म टू-व्हीलर इंश्योरेंस (LLTW) पेश किया है। इस पॉलिसी में व्यक्ति एक बार में 3 साल के लिए वाहन बीमा प्राप्त कर सकता है।

बीमा कंपनियों को दोपहिया बीमा के साथ 1 लाख रुपये का व्यक्तिगत दुर्घटना कवर देना होगा। हम प्रीमियम बढ़ाकर राइडर्स का बीमा भी ले सकते हैं।

वाणिज्यिक वाहन बीमा (Commercial Vehicle Insurance)

वाणिज्यिक उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाने वाले सभी वाहन, जैसे कि बस, ट्रक, एम्बुलेंस, लोडर, कैंटर, बहु-उपयोगी वाहन, कृषि वाहन, आदि का वाणिज्यिक वाहन बीमा के तहत बीमा किया जाता है। वाणिज्यिक वाहन बीमा दुर्घटना या आपदा की स्थिति में होने वाले नुकसान से भी बचाता है।

सड़क दुर्घटना की स्थिति में, किसी अन्य व्यक्ति या संपत्ति (तृतीय पक्ष) को नुकसान के अलावा, मृत्यु या चोट के दावों की सुविधा भी इस प्रकार की बीमा पॉलिसी का एक हिस्सा है।

बीमा पॉलिसी के लिए प्रीमियम का निर्धारण करते समय, वाणिज्यिक वाहन का मेक और मॉडल, पंजीकरण का स्थान, निर्माण का वर्ष, तत्काल शोरूम मूल्य आदि को भी ध्यान में रखा जाता है, चाहे बीमाकर्ता एक व्यक्ति हो या कंपनी।

मोटर बीमा आपके लिए क्यों आवश्यक है? Why is Motor Insurance Necessary for you?

यहां तक ​​कि अगर आप बहुत कुशलता से ड्राइव करते हैं, भले ही आपको भीड़-भाड़ वाली सड़कों पर वाहन लेने की आवश्यकता न हो, वाहन बीमा प्राप्त करना हमेशा एक लाभदायक सौदा होता है। ऑटो बीमा होने से आप इनमें से कई समस्याओं से बचते हैं-

  • किसी अन्य व्यक्ति, वाहन या संपत्ति को हुए नुकसान की भरपाई के लिए

भारत में लागू मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार हर वाहन के लिए थर्ड पार्टी लायबिलिटी इंश्योरेंस लेना अनिवार्य है। तृतीय-पक्ष बीमा आपके वाहन से किसी अन्य व्यक्ति को हुए नुकसान का निपटान करता है। क्षति स्थायी चोट या मृत्यु के रूप में भी हो सकती है। जिसका मुआवजा लाखों या करोड़ों में भी हो सकता है। किसी अन्य व्यक्ति की संपत्ति को हुए नुकसान का भुगतान भी उसी तृतीय-पक्ष देयता बीमा के तहत किया जाता है।

सामान्य परिस्थितियों में भी, यदि आपके पास अपने वाहन के लिए थर्ड पार्टी बीमा नहीं है, तो आपको 2000 रुपये तक का जुर्माना या तीन महीने की जेल हो सकती है। आप दोनों दंड एक साथ प्राप्त कर सकते हैं।

  • स्वयं के वाहन को हुए नुकसान के लिए

एक दुर्घटना में, आपके वाहन को हुए नुकसान की मरम्मत का खर्च फर्स्ट पार्टी मोटर इंश्योरेंस द्वारा कवर किया जाता है। इससे आप न सिर्फ अचानक आए आर्थिक संकट से सुरक्षित रहते हैं, बल्कि मरम्मत के झंझटों से भी मुक्त होते हैं। अब, कई कंपनियों (विशेषकर कार कंपनियों) ने सड़क के किनारे सहायता की सुविधा भी प्रदान करना शुरू कर दिया है। इसमें (दुर्घटनास्थल पर) मौके पर पहुंचकर ही आपकी मदद की जाती है।

  • प्राकृतिक आपदा या ऐसी अन्य घटनाओं के कारण हुई क्षति के लिए समझौता

वाहन बीमा किसी प्राकृतिक आपदा या मानव आपदा आदि के कारण हुए नुकसान के मामले को भी कवर करता है।

किस प्रकार की घटनाएं शामिल हैं: ऐसी आकस्मिकताओं में सड़क दुर्घटनाएं, कार में आग लगना, प्राकृतिक आपदाएं जैसे भूकंप, भूस्खलन, बाढ़, आंधी-तूफान-तूफान, बिजली आदि शामिल हैं। इसी तरह, मानव निर्मित आपदाओं में आग, दंगे, आतंकवादी हमले शामिल हैं। विस्फोट, चोरी, आदि

इन सभी तथ्यों को देखते हुए कहा जा सकता है कि मोटर इंश्योरेंस लेना हर तरह से समझदारी भरा सौदा है।

वाहन बीमा लेते समय इन बातों का ध्यान रखें। Keep these things in mind while taking vehicle insurance. 

अक्सर लोग वाहन बीमा के कम प्रीमियम (पैसे चुकाने) को देखकर बीमा पॉलिसी का विकल्प चुनते हैं। लेकिन, सस्ते प्लान का मतलब है कवरेज के मामले में कम आराम। एक प्रीमियम महंगा लग सकता है, लेकिन यह शून्य मूल्यह्रास ऐड-ऑन के साथ भी आता है।

बीमा पॉलिसी चुनते समय तीन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • बाजार में बीमा कंपनी की साख कैसी है? (पहुंच और सेवा की गति पर बदलाव)
  • कंपनी आपको क्या कवरेज दे रही है, और कितना? (स्वयं और तीसरे पक्ष के लिए भी)
  • आपकी ओर से भुगतान की जाने वाली प्रीमियम की मात्रा क्या है? (थोड़ी सी सुविधा देकर ज्यादा चार्ज नहीं करना)

तीनों तथ्यों को ध्यान में रखते हुए, आप सबसे अच्छा विकल्प चुन सकते हैं।

और हिंदी खबरों के लिए Seeker Times Hindi को फॉलो करो| For English News, follow Seeker Times.

SeekerTimesHindi

Recent Posts

Volkswagen Polo Legend Edition भारत में लॉन्च, 10.25 लाख से शुरू | पोलो लीजेंड के पूर्ण विनिर्देशों की जाँच करें।

कार निर्माता वोक्सवैगन ने भारत में अपनी लोकप्रिय हैचबैक का एक नया सीमित संस्करण संस्करण पेश किया है। कंपनी ने… Read More

8 महीना ago

हनुमान जयंती 2022: इस साल कब है हनुमान जयंती? जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजा का महत्व

हनुमान जयंती 2022 तिथि: बचपन में सूर्य को फल के रूप में खाने वाले महाबली हनुमान के अवतार का जन्म… Read More

8 महीना ago

OnePlus 10 Pro 5G vs Samsung Galaxy S22: आपके लिए बेस्ट फोन, चेक करें फीचर्स, कीमत, सभी स्पेसिफिकेशंस

Read in English OnePlus 10 Pro 5G vs Samsung Galaxy S22: OnePlus का प्रीमियम बजट स्मार्टफोन OnePlus 10 Pro 5G… Read More

8 महीना ago

Xiaomi 12 Pro 4600mAh बैटरी और 50MP कैमरा के साथ, जल्द आ रहा है! फीचर्स देखें

Xiaomi जल्द ही भारत में अपना नया स्मार्टफोन Xiaomi 12 Pro लॉन्च करेगी। यह क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 8 जेन 1 प्रोसेसर… Read More

8 महीना ago

मोबाइल पर जल्दी से YouTube वीडियो कैसे डाउनलोड करें| How to download YouTube videos on Mobile

Download YouTube videos: ऑफ़लाइन देखने के लिए YouTube वीडियो कैसे डाउनलोड कर सकते हैं। यह मार्गदर्शिका उन लोगों के लिए… Read More

10 महीना ago

Economic Survey 2022: 8 प्रमुख बिंदु जिन्हें आपको जानना आवश्यक है| 8 points from Economic Survey 2022

भारत का आर्थिक सर्वेक्षण (economic survey) बताता है कि देश की अर्थव्यवस्था वित्तीय वर्ष 2022-23 की चुनौतियों का सामना करने… Read More

10 महीना ago